Connect with us

उत्तराखंड में पारा बढ़ते ही बिजली की मांग में आया उछाल, आम जनता के साथ अब बिजली कर्मियों क़ो भी लगा झटका

उत्तराखंड

उत्तराखंड में पारा बढ़ते ही बिजली की मांग में आया उछाल, आम जनता के साथ अब बिजली कर्मियों क़ो भी लगा झटका

नियामक आयोग के एक अप्रैल से लागू हुए नए टैरिफ के हिसाब से इन सभी का फिक्स एनर्जी चार्ज भी बढ़ गया है। तीनों निगमों ने बढ़ी हुईं दरों का आदेश जारी कर दिया है। इसके तहत जहां फिक्स एनर्जी चार्ज में बढ़ोतरी की गई है तो वहीं यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि निर्धारित से अधिक बिजली खर्च करने पर सामान्य घरेलू उपभोक्ताओं की दरों पर भुगतान करना होगा।

प्रदेश के तीनों ऊर्जा निगमों के अधिकारियों, कर्मचारियों, पेंशनरों को महंगी बिजली का झटका लगा है। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग के नए टैरिफ आदेश के बाद अब तीनों निगमों ने बढ़ी हुईं दरों का आदेश जारी कर दिया है। इसके तहत जहां फिक्स एनर्जी चार्ज में बढ़ोतरी की गई है तो वहीं यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि निर्धारित से अधिक बिजली खर्च करने पर सामान्य घरेलू उपभोक्ताओं की दरों पर भुगतान करना होगा।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उपचुनाव रिजल्ट LIVE: किस पर बरसेगी बदरी विशाल की कृपा, जानें पूरा अपडेट

उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल), पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखंड लिमिटेड (पिटकुल) और उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड (यूजेवीएनएल) में हजारों की संख्या में अधिकारी-कर्मचारियों के अलावा सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं।हर साल एक निर्धारित सीमा तक इन सभी को मुफ्त बिजली इस्तेमाल की अनुमति होती है। केवल हर महीने फिक्स एनर्जी चार्ज देना होता है। नियामक आयोग के एक अप्रैल से लागू हुए नए टैरिफ के हिसाब से इन सभी का फिक्स एनर्जी चार्ज भी बढ़ गया है।

यह भी पढ़ें -  केंद्रीय ऊर्जा मंत्री खट्टर ने टिहरी पहुंचकर डैम का किया निरीक्षण, कहा-उर्जा देने में बांध का बड़ा योगदान

कितना फिक्स चार्ज बढ़ा

  • कर्मचारी श्रेणी- 2022- 2023 का चार्ज (प्रतिमाह)
  • चतुर्थ श्रेणी- 110-118
  • समूह ग- 163- 174
  • जूनियर इंजीनियर्स व समकक्ष- 294- 315
  • असिस्टेंट इंजीनियर व समकक्ष- 409- 438
  • डीजीएम व समकक्ष- 572-612
  • जीएम व समकक्ष- 697- 746
  • किसे हर साल कितनी बिजली मुफ्त (यूनिट में)
  • कर्मचारी श्रेणी- वर्किंग कर्मचारी- फैमिली पेंशनर
  • चतुर्थ श्रेणी- 6000-3000
  • समूह ग- 6500- 3250
  • जूनियर इंजीनियर्स व समकक्ष- 7000- 3500
  • असिस्टेंट इंजीनियर व समकक्ष- 7500- 3750
  • डीजीएम व समकक्ष- 8000-4000
  • जीएम व समकक्ष- 9000- 4500
  • पिटकुल ने पीएफ संबंधी आवेदन की सुविधा दी
यह भी पढ़ें -  दिल्ली में केदारनाथ के प्रतीकात्मक मंदिर निर्माण मामले ने पकड़ा तूल, तो केदारनाथ धाम ट्रस्ट ने दी सफाई

पिटकुल के जीएम फाइनेंस एसके तोमर ने ईपीएफओ को लेकर जारी निर्देशों के तहत सभी संबंधित कर्मचारियों को अधिक पेंशन के संबंध में आवेदन की सुविधा दी है। इसके लिए लेखाकार विजेंद्र सिंह का नंबर भी जारी किया गया है। कर्मचारी उनकी मदद से ईपीएफओ में आवेदन कर सकते हैं।

Continue Reading

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News

Author

Author: Shakshi Negi
Website: www.gairsainlive.com
Email: gairsainlive@gmail.com
Phone: +91 9720310305