Connect with us

स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दी सख्‍त चेतावनी, करोना की चौथी लहर के जताए आसार

उत्तराखंड

स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दी सख्‍त चेतावनी, करोना की चौथी लहर के जताए आसार

Covid Variants Omicron BA.2: ओमिक्रॉन बीए.2 वैरिएंट वाले कोरोना वायरस की चौथी लहर को लेकर WHO ने सख् चेतावनी जारी की है. खासकर भारत समेत एशिया के दूसरे देशों को कोविड 19 से अधिक सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं. ओमिक्रॉन बीए.2 वैरिएंट वाले कोरोना वायरस की चौथी लहर को लेकर WHO ने सख् चेतावनी जारी की है. चीन और दक्षिण कोरिया सहित कई एशियाई और यूरोपीय देशों में कोविड-19 मामलों में भारी वृद्धि देखी जा रही है, जिसने भारत में भी संभावित चौथी लहर के बारे में चेतावनी दी है. दुनियाभर में इन नए मामलों कोस्टील्थ ओमिक्रॉननाम दिया गया है, जो कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट का एक सब वेरिएंट है.

स्टील्थ ओमिक्रॉन, बीए.2 क्या है
स्टील्थ ओमिक्रॉन अत्यधिक तेजी से फैलने वाले ओमिक्रॉन वेरिएंट का सब वैरिएंट है, जो भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर के पीछे था. इस वैरिएंट को वैज्ञानिकों ने BA.2 Omicron नाम दिया है. स्टेटन्स सीरम इंस्टीट्यूट (एसएसआई) द्वारा कहा गया है कि स्टील्थ ओमिक्रॉन अपने पूर्ववर्ती वेरिएंट की तुलना में 1.5 गुना अधिक संक्रामक हो सकता है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: बदलेगा मौसम का मिजाज, इन जिलों में बारिश, ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने के आसार

स्टील्थ ओमिक्रॉन का पता लगाना मुश्किल
विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना वायरस का स्टील्थ ओमिक्रॉन वेरिएंट की पहचान कठिन है. इसका कारण यह है कि नया संस्करण स्पाइक प्रोटीन में महत्वपूर्ण उत्परिवर्तन करता है. कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट का Stealth Omicron BA.1 और BA.2 नामक दो सब वैरिएंट हैं.

स्टील्थ ओमिक्रॉन, ओमिक्रॉन से इस तरह है अलग
स्टील्थ ओमिक्रॉन, ओमिक्रॉन की तुलना में अधिक गंभीर है, इस बात की पुष्टि अबतक स्पष् तौर पर नहीं की गई है. इस बीच, विश् स्वास्थ् संगठन, डब्ल्यूएचओ का सुझाव है कि ओमिक्रॉन अधिक तेजी से फैलने वाला वायरस है. दुनिया के देशों को पहले से अधिक सतर्क रहना होगा.

यह भी पढ़ें -  कक्षा 1 से 8 तक अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को मिलेगा मीठा सुगंधित दूध, आदेश हुए जारी

सांस की नली को अधिक खतरा
दुनियाभर में किए गए अध्ययनों के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण BA.1 (ओमिक्रॉन) के बाद BA.2 (स्टील्थ ओमिक्रॉन) के साथ पुन: तेजी से वापस लौट रहा है. BA.2 मुख् तौर पर मानव शरीर के ऊपरी हिस्से, खासकर सांस की नली को अधिक प्रभावित करता है. डब्ल्यूएचओ के अनुसार, BA.2 ( स्टील् ओमिक्रॉन) वेरिएंट मुख्य रूप से ऊपरी श्वसन प्रक्रिया को प्रभावित करता है. डेल्टा वेरिएंट की तरह BA.2 वेरिएंट फेफड़ों को प्रभावित नहीं करता है. इस वेरिएंट से संक्रमित रोगियों को सांस की तकलीफ, गंध और स्वाद जाने का अनुभव नहीं होता

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News