Connect with us

चारधाम यात्रा में मौत का सिलसिला जारी, यमुनोत्री व बदरी-केदार में हार्ट अटैक से 8 लोगो की मौत

उत्तराखंड

चारधाम यात्रा में मौत का सिलसिला जारी, यमुनोत्री व बदरी-केदार में हार्ट अटैक से 8 लोगो की मौत

बुधवार को चारधाम यात्रा पर आए आठ श्रद्धालुओं की हृदय गति रुकने से मौत हो गई। इसमें चार श्रद्धालुओं की मौत केदारनाथ धाम में हुई है जबकि तीन श्रद्धालु की मौत यमुनोत्री में हुई है। वहीं बदरीनाथ में एक श्रद्धालु ने दम तोड़ा है।

केदारनाथ में बुधवार को भी हृदयाघात से चार श्रद्धालुओं की मौत हो गई। जबकि, यमुनोत्री में तीन और बदरीनाथ धाम में एक श्रद्धालु ने दम तोड़ा। इसी के साथ केदारनाथ में अब तक 37, यमुनोत्री में 23 और बदरीनाथ में 13 श्रद्धालु हृदयाघात से दम तोड़ चुके हैं। ऋषिकेश समेत चारों धाम में यह संख्या 82 पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में भारी बारिश के अलर्ट के बीच रोकी गई केदारनाथ यात्रा, छह हजार से अधिक तीर्थ यात्रियों को रोका गया

बुधवार को केदारनाथ यात्रा पर आए चार और यात्रियों की मौत हृदयगति रुकने से हो गई। केदारनाथ में अब तक कुल 38 यात्रियों की मौत हो चुकी है, जिसमें एक यात्री की मौत गौरीकुंड में पैर फिसलने से हुई।

रुद्रप्रयाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. बीके शुक्ला ने बताया कि केदारनाथ दर्शनों को आए जिन श्रद्धालुओं ने बुधवार को दम तोड़ा, उनमें ग्वालियर (मध्य प्रदेश) निवासी ऋषि भदौरिया (65), गुलाबगंज कैंट गुना (मध्य प्रदेश) निवासी शंभू दयाल यादव (66), श्रावस्ती (उत्तर प्रदेश) निवासी कलामनाथ भट्ट (60) और कोल्हापुर सिटी (महाराष्ट्र) निवासी चंगदेव जनार्दन शिंदे शामिल हैं। सभी की मौत हृदयाघात से हुई।

यह भी पढ़ें -  सतर्क रहे! उत्तराखंड में 18 सितंबर तक भारी से भारी बारिश की चेतावनी, मौसम की जानकारी ले कर ही निकले बाहर

सीएमओ ने बताया कि केदारनाथ धाम में दर्शन करने आ रहे श्रद्धालुओं का यदि किसी का स्वास्थ्य खराब होने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा तत्परता से स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। बुधवार को कुल 1076 श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार कराया गया। जिसमें 773 पुरुष और 303 महिलाएं शामिल हैं।

अब तक ओपीडी के माध्यम से 35,547 श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया गया है। इसमें 26,013 पुरुष और 9534 महिला शामिल हैं। आज 56 यात्रियों को आक्सीजन उपलब्ध कराया गया। अब तक 566 यात्रियों को आक्सीजन उपलब्ध कराया गया है।

यह भी पढ़ें -  प्रदेशभर में आगामी 6 अक्टूबर तक चलेगा स्वास्थ्य अभियान, लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण को गांव-गांव पहुंचे रहे सीएचओ

यमुनोत्री में तीन और बदरीनाथ में एक की मौत: बदरीनाथ धाम में भी सीने में दर्द की शिकायत के बाद महाराष्ट्र निवासी बाबा साहिब (62 वर्ष) ने अस्पताल ले जाते हुए दम तोड़ दिया। उधर, यमुनोत्री दर्शनों को धर्मपुरी (तमिलनाडु) निवासी सिद्देराजन (57 वर्ष) गर्म कुंड में स्नान के बाद मंदिर परिसर में ही बेहोश हो गए। अस्पताल ले जाते हुए उनकी मौत हो गई। इसके अलावा पुणे (महाराष्ट्र) निवासी दिलीप परांजये (75 वर्ष) और महाराजगंज (उत्तर प्रदेश) निवासी पारसनाथ राजन (74 वर्ष) ने भी यमुनोत्री मंदिर परिसर में ही दम तोड़ा।

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News

Author

Author: Shakshi Negi
Website: www.gairsainlive.com
Email: [email protected]
Phone: +91 9720310305