Connect with us

Big breaking:- हरिद्वार के प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी विद्याशंकर चतुर्वेदी को शासन ने निलंबित किया… हरद्वार के जिला अधिकारी विनय शंकर तिवारी ने की थी निलंबन संस्तुति

उत्तराखंड

Big breaking:- हरिद्वार के प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी विद्याशंकर चतुर्वेदी को शासन ने निलंबित किया… हरद्वार के जिला अधिकारी विनय शंकर तिवारी ने की थी निलंबन संस्तुति

विद्याशंकर चतुर्वेदी, प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी, हरिद्वार (जिला शिक्षा अधिकारी, प्रा०शि०, रुद्रप्रयाग) के विरुद्ध उत्तराखण्ड राज्य में चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरान्त मुख्य शिक्षा अधिकारी, कार्यालय, हरिद्वार में पूर्वतिथि (Back Date) में अध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी किए जाने तथा समायोजन की कार्यवाही किए जाने के दृष्टिगत जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी, हरिद्वार द्वारा अपने पत्रांक- 02/मु०वै०अधि/जिअधिo/ 2022 दिनांक 09.01.2022 के साथ संलग्न मुख्य विकास अधिकारी, हरिद्वार के पत्र संख्या 4051 / पी०ए०-2022 दिनांक 09.01.2022 द्वारा जांच आख्या उपलब्ध करायी गयी है तथा मुख्य शिक्षा अधिकारी की भूमिका संदिग्ध प्रतीत होने का उल्लेख करते हुए शासन से मुख्य शिक्षा अधिकारी हरिद्वार के निलम्बन तथा उनके विरुद्ध विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने की प्रबल संस्तुति की गयी है।

2 उपरोक्त के आलोक में श्री विद्याशंकर चतुर्वेदी, प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी हरिद्वार (जिला शिक्षा अधिकारी, प्रा०शि० रूद्रप्रयाग) की प्रथम दृष्टया संदिग्ध भूमिका एवं आरोप की गम्भीरता के दृष्टिगत श्री चतुर्वेदी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित किया जाता है।

यह भी पढ़ें -  कुण्ड से ऊखीमठ को जोड़ने वाला मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त, यातायात पूर्ण रूप से प्रतिबंधित

3 निलम्बन अवधि में श्री चतुर्वेदी को वित्तीय नियम संग्रह खण्ड-2 भाग 2 से 4 के मूल नियम-53 के प्रावधानों के अनुसार जीवन निर्वाह भते की धनराशि अद्भवेतन पर देय अवकाश वेतन की राशि के बराबर देय होगी तथा उन्हें जीवन निर्वाह भत्ते की धनराशि पर मंहगाई भत्ता, यदि ऐसे अवकाश वेतन पर देय है, भी अनुमन्य होगा, किन्तु ऐसे अधिकारी को जीवन निर्वाह के साथ कोई मंहगाई भत्ता देय नहीं होगा, जिन्हें निलम्बन से पूर्व प्राप्त वेतन के साथ महगाई भत्ता अथवा मंहगाई भत्ते का उपांतिक समायोजन प्राप्त नहीं था। निलम्बन के दिनांक को प्राप्त वेतन के आधार पर अन्य प्रतिकर भत्ते भी निलम्बन की अवधि में इस शर्त पर देय होंगे, जब इसका समाधान हो जाय कि उनके द्वारा उस मद में व्यय वास्तव में किया जा रहा है, जिसके लिए उक्त प्रतिकर भत्ते अनुमन्य है।

यह भी पढ़ें -  विधि विधान के साथ श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ के लिए खुले आज श्री बद्री विशाल के कपाट

4 उपर्युक्त प्रस्तर में उल्लिखित मदों का भुगतान तभी किया जायेगा, जब श्री विद्याशंकर इस आशय का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें कि वे किसी अन्य सेवायोजन, व्यापार, वृत्ति व्यवसाय में नहीं लगे है।

श्री विद्याशंकर चतुर्वेदी निलम्बन की अवधि में महानिदेशालय, विद्यालयी शिक्षा, उत्तराखण्ड, देहरादून में सम्बद्ध रहेंगे।

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News