Connect with us

आनंद मोहन सिंह की रिहाई से उत्तराखंड IAS एसोसिएशन नाराज, कहा- फैसले पर पुर्नविचार करे बिहार सरकार

उत्तराखंड

आनंद मोहन सिंह की रिहाई से उत्तराखंड IAS एसोसिएशन नाराज, कहा- फैसले पर पुर्नविचार करे बिहार सरकार

आनंद मोहन की रिहाई का उत्तराखंड IAS एसोसिएशन ने किया विरोध, नीतीश सरकार से यह मांगउत्तराखंड के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) एसोसिएशन ने आनंद मोहन सिंह को रिहा करने के बिहार सरकार के फैसले पर आपत्ति जताई है। आईएएस एसोसिएशन ने बिहार सरकार से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है। गौरतलब है कि बीते दिनों जिलाधिकारी जी कृष्णैया की हत्या के दोषी आनंद मोहन सिंह को रिहा किया गया है।बिहार सरकार ने 24 अप्रैल को पूर्व लोकसभा सदस्य आनंद मोहन सिंह समेत 27 कैदियों की जेल से रिहाई के संबंध में अधिसूचना जारी की थी। उत्तराखंड के आईएएस एसोसिएशन ने बिहार सरकार के इसी फैसले पर आपत्ति जताई है।

उत्तराखंड आईएएस एसोसिएशन ने एक बयान जारी कर कहा, ‘गोपालगंज के पूर्व जिलाधिकारी स्वर्गीय श्री जी कृष्णैया की जघन्य हत्या के दोषियों को रिहा करने के बिहार सरकार के फैसले पर आईएएस एसोसिएशन पीड़ा व्यक्त करता है। सजा में बदलाव कर सजा माफ करने का नियम न्यायालय के आदेश का घोर उल्लंघन है। यह फैसला न्याय के सिद्धांतों की उपेक्षा करता है। साथ ही यह पीड़ितों के दर्द के प्रति असंवेदनशील प्रतीत होता है।’

यह भी पढ़ें -  सरकारी नौकरियों में इनको चार फीसदी आरक्षण मिलेगा, विधेयक को कैबिनेट से मिली मंजूरी

आईएएस एसोसिएशन के बयान में आगे कहा गया कि ‘इस तरह के फैसले हर सिविल सेवक के भरोसे पर प्रहार करते हैं। यह समाज के लिए हानिकारक है। हम राज्य (बिहार) सरकार से राष्ट्र के हित में जल्द से जल्द अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की पुरजोर अपील करते हैं।

Continue Reading

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News

Author

Author: Shakshi Negi
Website: www.gairsainlive.com
Email: [email protected]
Phone: +91 9720310305