Connect with us

उत्तराखंड: कांवड़ मेले को सकुशल संपन्न कराने हेतु DGP ने हर की पैड़ी पहुंचकर की मां गंगा की पूजा अर्चना

उत्तराखंड

उत्तराखंड: कांवड़ मेले को सकुशल संपन्न कराने हेतु DGP ने हर की पैड़ी पहुंचकर की मां गंगा की पूजा अर्चना

आज दिनांक 02-07-23 को कांवड़ मेले की तैयारियों को परखने हरिद्वार पहुंचे डीजीपी उत्तराखंड श्री अशोक कुमार द्वारा सर्वप्रथम हर की पैड़ी पर मां गंगा जी का पूजन कर सकुशल मेला सम्पन्न कराए जाने हेतू मां गंगा का आशीर्वाद लिया। तत्पश्चात हर की पैड़ी क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति के बारे में उपस्थित अधिकारियों से जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए।

भ्रमण के पश्चात डीजीपी महोदय द्वारा सीसीआर भवन में कांवड़ मेला ड्यूटी में नियुक्त समस्त सुपर जोनल एवं जोनल पुलिस अधिकारियों के साथ कांवड़ मेले के संबंध में विस्तृत से चर्चा करते हुए अपने लंबे अनुभवों से उपस्थित अधिकारियों का उचित मार्गदर्शन किया गया।

यह भी पढ़ें -  सरकारी नौकरियों में इनको चार फीसदी आरक्षण मिलेगा, विधेयक को कैबिनेट से मिली मंजूरी

पुलिस महानिदेशक महोदय द्वारा बताए गए महत्वपूर्ण बिन्दू निम्न प्रकार हैं-

1- धार्मिक विश्वास के अनुरूप इस वर्ष बीते वर्ष से अधिक कांवड़ यात्री हरिद्वार पहुँचेंगे। हम सभी को प्री प्लान कर आपसी समन्वय से अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना है।

2- इस मेले में देश के कई राज्यों से श्रद्धालु आते हैं, जिनकी भावनाओं का सम्मान करते हुए हमें उन्हें सकुशल उनके गंतव्य हेतु रवाना करना है।

3- प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी की अपने पॉइंट की ड्यूटी बहुत महत्वपूर्ण है जिसे बखूबी निभाना है।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री धामी ने 27 डिप्टी जेलरों तथा 285 बंदी रक्षकों को बांटे अपॉइंटमेंट लेटर

4- समस्त सुपर जोनल एवं जोनल प्रभारियों को अधीनस्थ फोर्स को लगातार मोटिवेटेड करते रहना है, साथ ही उनकी व्यवस्थाओं का भी खयाल रखना है जिससे हमारा जवान 12 घंटे मुस्तैदी के साथ ड्यूटी का निर्वहन कर सकें।

5- किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्रित होने पर मुवमेंट कर लोगों को शिफ्ट किया जाना अतिआवश्यक है क्योंकि अक्सर छोटी-छोटी घटनाएं भारी भीड़ के कारण बड़ा रूप ले लेती है।

6- क्राउड कंट्रोल व प्लान लागू करने में फिल्ड ऑफिसर्स के साथ-साथ कंट्रोल रूम की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। यहां नियुक्त अधिकारी भीड़ का आकलन कर यातायात मार्ग की स्थिति से निरंतर उच्चाधिकारियों को अवगत कराते रहेंगे।

यह भी पढ़ें -  IAS हरीश चंद्र सेमवाल की अचानक तबीयत हुई खराब, हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री धामी

7- किसी भी अधिकारी एवं कर्मचारी गणों को किसी भी विषम परिस्थिति मे अपना धैर्य नहीं खोना है l

8- पैरामिलिट्री फोर्सेस के अधिकारीगण भी अपने फोर्स को समय-समय पर ब्रीफ कर यदि प्लानशमें कुछ बदलाव होता है तो उसकी जानकारी देते रहेंगे।

9- ड्यूटी में किसी भी फोर्स के जवान को एग्रेसिव नहीं होना है, अगर कहीं पर स्थिति प्रतिकूल होती है तो लोकल पुलिस अधिकारी को तत्काल सूचित करें जिससे समय रहते स्थिति को सामान्य बनाया जा सके।

Continue Reading

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News

Author

Author: Shakshi Negi
Website: www.gairsainlive.com
Email: [email protected]
Phone: +91 9720310305