Connect with us

पौने चार रुपये बढ़े 6 दिनों में तेल के दाम, क्या फिर होगया महंगाई का दौर शुरू

देश

पौने चार रुपये बढ़े 6 दिनों में तेल के दाम, क्या फिर होगया महंगाई का दौर शुरू

नई दिल्‍ली Petrol Diesel Price: देश में आज पेट्रोल की कीमत में 50 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 55 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. एक हफ्ते से भी कम वक्‍त में दैनिक मूल्य संशोधन के फिर से शुरू होने के बाद कीमतों में 3.70-3.75 रुपये प्रति लीटर की कुल वृद्धि हुई है. दिल्‍ली के फ्यूल टेलर्स के नोटिफिकेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत अब 98.61 रुपये प्रति लीटर के मुकाबले 99.11 रुपये प्रति लीटर होगी, जबकि डीजल की कीमत 89.87 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 90.42 रुपये हो गई है. देश भर में दरों में वृद्धि की गई है और स्थानीय टैक्‍स के अनुसार अलग-अलग राज्‍यों में कीमतें अलग अलग हैं.

यह भी पढ़ें -  Indian Railways: रेलवे ने पहली बार एक साथ 19 अफसरों को दिखाया बाहर का रास्ता, ये थी वजह

मुंबई में पेट्रोल के दाम 53 पैसे बढ़कर 113.88 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गए हैं. वहीं डीजल 58 पैसे बढ़कर 98.13 रुपये प्रति लीटर हो गया है. कोलकाता में पेट्रोल की कीमत में 52 पैसे की बढ़ोतरी हुई है और प्रति लीटर पेट्रोल 108.53 रुपये हो गया है. यहां पर डीजल की कीमतें 56 पैसे की वृद्धि के साथ 93.57 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई है. जबकि चेन्‍नई में पेट्रोल की कीमत 57 पैसे बढ़कर 105 और डीजल की कीमत 63 पैसे बढ़कर 95.10 रुपये प्रति लीटर हो गई है.

यह भी पढ़ें -  Indian Railways: रेलवे ने पहली बार एक साथ 19 अफसरों को दिखाया बाहर का रास्ता, ये थी वजह

22 मार्च को साढ़े चार महीने के लंबे अंतराल के बाद पहली बार कीमतों में वृद्धि की गई थी, जिसके बाद से अब तक कीमतों में पांच बार बढ़ोतरी की जा चुकी है. पिछले सभी चार मौकों पर कीमतों में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई थी. यह जून 2017 में दैनिक मूल्य संशोधन शुरू होने के बाद से एक दिन में सबसे तेज वृद्धि थी. छह दिनों में पेट्रोल के दाम 3.70 रुपये प्रति लीटर और डीजल के दाम 3.75 रुपये प्रति लीटर बढ़े हैं.

उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव प्रक्रिया शुरू होने से पहले चार नवंबर, 2021 से ही पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें स्थिर बनी हुई थीं। हालांकि, इस अवधि में कच्चे तेल की कीमत 30 डॉलर प्रति बैरल तक बढ़ गई थी‌. विधानसभा चुनाव के 10 मार्च को नतीजे आने के साथ ही पेट्रोल एवं डीजल के दाम में बढ़ोतरी की संभावना जताई जा रही थी, लेकिन पेट्रोलियम कंपनियों ने कुछ दिन और इंतजार किया. ऐसा कहा जा रहा है कि अब पेट्रोलियम विपणन कंपनियां अपने घाटे की भरपाई कर रही हैं. भारत अपनी तेल की जरूरत पूरी करने के लिए आयात पर 85 फीसदी निर्भर है.

यह भी पढ़ें -  मंहगाई की मार: घरेलू LPG सिलेंडर की कीमतों में इतने रुपये हुआ इजाफा
Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in देश

Like Our Facebook Page

Latest News