Connect with us

NMOPS का राष्ट्रीय नेतृत्व कर रहे विजय बंधु पुरानी पेंशन राष्ट्रीय बहाली आंदोलन की भरेंगे हुंकार

उत्तराखंड

NMOPS का राष्ट्रीय नेतृत्व कर रहे विजय बंधु पुरानी पेंशन राष्ट्रीय बहाली आंदोलन की भरेंगे हुंकार

पुरानी पेंशन राष्ट्रीय बहाली आंदोलन Nmops, पुरानी पेंशन बहाली हेतु लगातार आन्दोलनरत है । NMOPS का राष्ट्रीय नेतृत्व  विजय बंधु कर रहे हैं और उत्तराखंड में NMOPS का नेतृत्व अध्यक्ष  जीत मणि पैन्यूली की द्वारा किया जा रहा है। उत्तराखंड में NMOPS के द्वारा पुरानी पेंशन बहाली के लिए कई आंदोलन चलाए गए । जिसमें राज्य के विभिन्न जनपदों में धरना प्रदर्शन, ब्लॉक इकाइयों का गठन एनपीएस कर्मचारी एवं शिक्षकों को संगठन में जोड़ना रक्तदान शिविर लगाना. और जनप्रतिनिधियों तक अपनी बात पहुंचाना

एनएमओपीएस द्वारा सामाजिक कार्य किए जैसे कोरोना काल में मास्क वितरण , सेनेटाइजर एवं ऑक्सीमीटर वितरण किया गया और दवाइयां भी उपलब्ध कराई गई और रक्तदान शिविरों का आयोजन भी किया गया दिनांक 15 नवंबर 2021 को देहरादून में विशाल महारैली का आयोजन किया गया जिसमें पूरे देश के हजारों कर्मचारियों अधिकारियों द्वारा एवं शिक्षकों द्वारा प्रतिभाग किया गया उक्त रैली में प्रिंट/ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा भी पूर्ण सहयोग किया गया इसके लिए पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन एनएमओपीएस आप सभी का हृदय की गहराइयों से आभार व्यक्त करता है

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: चुनावी हार के बाद बिखर गई कांग्रेस! अब वरिष्ठ नेता जोत सिंह बिष्ट ने छोड़ा दामन

वर्तमान में NMOPS उत्तराखंड को उत्तराखंड में पंजीकृत कर सभी परिसंघ तथा संघों का समर्थन प्राप्त है जिसमें उत्तराखंड अधिकारी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति, उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियरिंग महासंघ, उत्तराखंड पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन राज्य कर्मचारी संगठन ,उत्तराखंड फेडरेशन ऑफ मिनिस्टीरियल सर्विसेज व्यक्तिक अधिकारी व्यकयैक्तिक महासंघ, एसोसिएशन राजकीय वाहन चालक महासंघ, चतुर्थवर्गीय कर्मचारी संघ, इंजीनियरिंग ड्राइंग फेडरेशन, सिंचाई निगम महासंघ उत्तराखंड निगम अधिकारी कर्मचारी महासंघ ने अपना पूर्ण रूप से सहयोग समर्थन दिया है

इन महासंघों के अंतर्गत उत्तराखंड में 56 से अधिक संघ परिसंघ का समर्थन NMOPS को प्राप्त है NMOPS द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम /आंदोलन का परिणाम अब सामने आने लगा है बड़े हर्ष का विषय है कि राजस्थान सरकार द्वारा पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन(NMOPS) के अनुरोध पर राजस्थान में पुरानी पेंशन बहाल करने का निर्णय लिया गया है इस का NMOPS Uttrakhand हार्दिक स्वागत करता है तथा इस कार्य हेतु माननीय मुख्यमंत्री राजस्थान श्री अशोक गहलोत जी का एवं राजस्थान सरकार का आभार व्यक्त करता है तथा टीम एनपीएस राजस्थान को उनके इस अथक प्रयास हेतु बधाई देता है साथ ही विजय कुमार बंधु जी एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी को धन्यवाद अर्पित करता है  विजय कुमार बंधु जी द्वारा पुरानी पेंशन बहाली हेतु किए गए संघर्षों का परिणाम अब दिखने लगा है तथा पूर्ण आशा है कि केंद्र एवं सभी राज्यों में भी शीघ्र ही पुरानी पेंशन लाभ दिया जाने लगेगा आंदोलन के इन्हीं प्रपेक्ष में झारखंड, छत्तीसगढ़ ,हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश में भी कुछ समय पश्चात पुरानी पेंशन बहाल होने की पूरी संभावना दिख रही है उत्तराखंड में भी विभिन्न राजनीतिक दलों ने अपने शीर्ष नेतृत्व से वार्ता की गई और कर्मचारियों और अधिकारियों की पुरानी पेंशन हेतु आश्वासन दिया गया.

यह भी पढ़ें -  मंहगाई की मार: घरेलू LPG सिलेंडर की कीमतों में इतने रुपये हुआ इजाफा

उत्तराखंड में इस आंदोलन को गति देने के लिए प्रांतीय कार्यकारिणी अब चरणबद्ध आंदोलन चलाने का निर्णय लिया गया है इस क्रम में NMOPS उत्तराखंड द्वारा 26  फरवरी 2022 को सोशल मीडिया के माध्यम से दोपहर 12:00 से 4:00 बजे सांय तक ट्विटर पर अशोक गहलोत जी एवं राजस्थान सरकार को सादर धन्यवाद प्रेषित किया जाएगा। ट्विटर पर निम्न स्लोगन के -साथ उत्तराखंड के समस्त एनपीएस कर्मचारी और शिक्षक भारी संख्या में ट्वीट करेंगे तथा गहलोत जी का धन्यवाद ज्ञापित एवं राजस्थान सरकार का आभार व्यक्त करेंगे इसमें दूसरे चरण में शीघ्र ही विभिन्न राजनीतिक दलों के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात कर उत्तराखंड में भी पुरानी पेंशन लागू करने का अनुरोध किया जाएगा इसके पश्चात तीसरे चरण में उत्तराखंड में सरकार गठित होने के पश्चात पुनः सरकार पर पुरानी पेंशन बहाली का दबाव बनाया जाएगा। इसी क्रम में इन चरणों की समीक्षा कर पुनः केंद्रीय नेतृत्व प्रांतीय कार्यकारिणी द्वारा बैठक कर आगामी रणनीति बनाई जाएगी.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: बदलेगा मौसम का मिजाज, इन जिलों में बारिश, ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने के आसार

 

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News