Connect with us

Big breaking:- सांसद अजय भट्ट ने ली कोरोना नियंत्रण को लेकर महत्वपूर्ण बैठक , अधिकारियों को दिए बड़े निर्देश

उत्तराखंड

Big breaking:- सांसद अजय भट्ट ने ली कोरोना नियंत्रण को लेकर महत्वपूर्ण बैठक , अधिकारियों को दिए बड़े निर्देश

हल्द्वानी -सांसद  अजय भटट ने बुधवार को कोविड 19 संक्रणम की वर्तमान परिस्थितयों के जनसामान्य में संक्रमण के प्रभाव को नियंत्रित करने एवं संक्रमण की प्रारम्भिक रोकथाम के लिए किये जा रहे कार्यो की समीक्षा वर्चुवल मीटिंग के माध्यम से की। उन्होने जिला प्रशासन, जप्रतिनिधियों एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आक्सीजन, दवाईयो के वितरण, कोविड केयर सेन्टरों में व्यवस्थाओं के अलावा वैक्सीनेशन,होम आइसोलेशन के सम्बन्ध में व्यापक चर्चा की।सांसद  अजय भटट ने निर्देश दिये कि मौजूदा दौर मे कोरोना का संक्रमण ग्रामीण क्षेत्रों विशेषकर पर्वतीय क्षेत्रों मे देखने को मिल रहा है। ऐसे में संक्रमण को रोकने के लिए यु़द्ध स्तर पर सैम्पलिंग की जाए तथा विशेष शिविरों के माध्यम से वैक्सीनेशन भी कराया जाए। उन्होने कहा कि ग्रामीण स्तर पर आशा वर्करों तथा बीएलओ के माध्यम से दवाईयों की किट आक्सीमीटर, थर्मामीटर आदि उपलब्ध कराये जांए ताकि गांव के लोगों की समय से देखभाल हो सके। उन्होने कहा कि कोविड अस्पतालों में सामान्य मरीजो के उपचार हेतु सभी व्यवस्थायें मजबूत होनी चाहिए ताकि सामान्य मरीजों को उपचार मे कोई समस्या ना आये। उन्होने कहा कि बाहरी मजदूरों को भी वैक्सीनेशन एवं सैम्पलिंग अवश्य किया जाए। उन्होने कहा कि निजी अस्पतालों में निर्धारित दरों से अधिक धनराशि ना ली जाए, इसकी विशेष निगरानी रखी जाए। उन्होने कहा कि संक्रमण के इस दौर में सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों तथा स्वास्थ्य महकमे के लोगों को आपसी समन्वय बनाते हुये टीम भावना से काम करते रहना हैै।
भटट ने बताया कि भवाली सेनिटोरियम को कोविड केयर सेन्टर के रूप मे विकसित करने तथा सेनिटोरियम की आधारभूत सुविधाओं के बढाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा दो करोड की धनराशि जारी कर दी है। ऐसे मे सेनिटोरियम यह अस्पताल पर्वतीय क्षेत्रों के लोगो के लिए वरदान साबित होगा। उन्होने जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ष्याल से कहा कि रामनगर क्षेत्र में आक्सीजन प्लांट तथा कोविड अस्पताल को सभी सुविधाओं से लैस करते हुये जल्द सक्रिय करायेें इसका लाभ रामनगर, काशीपुर, धूमाकोट, भिकियासैण व अन्य स्थान के लोगो को मिल सकेगा। उन्होने इस बात पर प्रशन्नता व्यक्त की जनपद नैनीताल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम तथा मरीजो के ईलाज के लिए बेहतर काम किया जा रहा है, दिनरात मेहनत कर सुशीला तिवारी अस्पताल के प्रबन्धन ने जो कोरोना पाजेटिव लोगो का ईलाज व सेवा की है निसंदेश वह भी प्रशंसा के पात्र है।
सांसद श्री भटट ने ब्लैक फंगस के संक्रमण की रोकथाम व ईलाज के लिए की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुये कहा कि जल्द ही फंगस के संक्रमित लोगो की संख्या बढने की सम्भावना है। इसके लिए अभी से वार्ड, आईसीयू बैड आदि की व्यवस्था कर ली जाए। उन्होने बताया कि फंगस से सम्बन्धित इंजेक्शन भी कम संख्या मे प्राप्त हो रहे हैं एक सप्ताह के भीतर जनपद को 500 इंजेक्शन की व्यवस्था हो जायेगी। जिसके लिए वह निरंतर अनुश्रवण कर रहे है। उन्होने कहा कि कन्टोल रूम निरंतर संचालित रहें। सांसद निधि द्वारा 300 आक्सीजन सिलेन्डर स्वीकृत किये गये हैं। इसके अलावा आक्सीमीटर, आक्सीजन प्लांट के लिए भी सांसद निधि से 1 करोड 6 लाख की धनराशि दी जा चुकी है। उन्होने मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि वह सांसद निधि से दी गई धनराशि के व्यवस्थाओं के लिए अपने स्तर से अनुश्रवण करें।

जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ष्याल ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से कोरोना मरीजों की संख्या में काफी कमी आई है। सुशीला तिवारी के अलावा निजी अस्पतालों में काफी संख्या में बैड खाली है। उन्होने बताया कि जनपद के सभी सरकारी अस्पतालों में आवश्यक उपकरणों एवं व्यवस्थाओं के लिए जिला प्लान से 1 करोड से अधिक की धनराशि स्वास्थ्य विभाग को आवंटित कर दी गई है। इसके अलावा रामनगर मे 2 करोड की लागत से आक्सीजन प्लांट के निर्माण का काम युद्ध स्तर पर जारी है। इसके अलावा महिला चिकित्सालय हल्द्वानी मे भी आक्सीजन प्लांट का काम शुरू कर दिया गया है। सेनिटोरियम भवाली में 50 बैड का कोविड केयर संेटर स्थापित करने की दिशा मे कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रो मे बढते हुये संक्रमण को देखते हुये अब तक 11942 सैम्पल लिये गये है, जिसमें से 589 पाॅजेटिव पाये गये है। उन्होने बताया कि जनपद में 10 दिन पहले 40 प्रतिशत कोरोना पाजेटिव केस मिल रहे थे, अब घटकर केवल 4 प्रतिशत रह गये है। उन्होने बताया कि प्रत्येक स्वास्थ्य केन्द्र मे 10-10 आक्सीजन सिलेन्डर रखवा दिये गये है। जनपद के प्रत्येक ग्राम स्तर पर सघन कोविड जांच अभियान जारी है। उन्होने बताया कि होम आइसोलेशन मे रह रहे आईवरमैक्टीन गोली तथा अन्य दवाईयों के पैकिटों का वितरण आंगनबाडी कार्यकत्री तथा बीएलओ के माध्यम से प्रारम्भ कर दिया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों मे जिन व्यक्तियों में कोविड लक्षण पाये जा रहे है उन्होने शीघ्रता से दवाईया उपलब्ध कराई जा रही है। जनपद के प्रत्येक बीएचसी व पीएचसी मे चिकित्सको की निगरानी में 100-100 आइसोलेशन किट तथा प्रत्येक ग्राम पंचायत में 20-20 होम आइसोलेशन किट दी जा रही है।

यह भी पढ़ें -  Big breaking:-भारी बारिश के चलते हुए दो हादसे 4 की मौत

जानकारी देते हुये मुख्य विकास अधिकारी नरेन्द्र सिह भण्डारी ने बताया कि जनपद मे स्थिति नियंत्रण मे है तथा पहले से परिस्थितियो मे काफी सुधार हुआ है। 1571 लोग होम आइसोलशन मे है।
जानकारी देते हुये प्राचार्य मेडिकल कालेज डा0 सीपी भैसोडा ने बताया कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय में ब्लैक फंगस के संक्रमित लोगो का इलाज करने के लिए 10 बैड का एक वार्ड अलग से बना दिया  गया है तथा इस वार्ड में आईसीयू की व्यवस्था भी की गई है। वर्तमान में ब्लैक फंगस के तीन मरीज भर्ती है जिनका इलाज चल रहा है। उन्होने ब्लैक फंगस के ट्रीटमैंट के लिए 500 इंजेेक्शन की तत्काल व्यवस्था की ओर सांसद का ध्यान आकर्षित किया।
जिला अध्यक्ष भाजपा प्रदीप बिष्ट ने कहा कि प्रशासन द्वारा बेहतर तरीके से काम किया जा रहा है लेकिन निजी अस्पतालों द्वारा मरीजो से लिये जा रहे अनावश्यक चार्जेज रोके जाने की जरूरत बताई।
वर्चुवल बैठक में विधायक नवीन दुम्का,अध्यक्ष जिला पंचायत बेला तोलिया,एसएसपी प्रीति प्रर्यदर्शनी, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भगीरथी जोशी, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी,उपजिलाधिकारी अनुराग आर्य, प्रतीक जैन, गौरव चटवाल, विनोद कुमार, विवेक राय, विनोद शुक्ल, ऋचा सिह, कन्टोल रूम प्रभारी धनपत कुमार, प्रमुख चिकित्सधीक्षक महिला चिकित्सालय डा0 ऊषा जंगपांगी, एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, प्रमुख चिकित्साधीक्षक एसटीएच डा0 अरूण जोशी, परियोजना निदेशक डीआरडीए अजय कुमार, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी प्रकाश त्रिपाठी के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News