Connect with us

बंटी-बबली चढ़े हरिद्वार पुलिस के हत्थे, चार दर्जन से अधिक मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज

उत्तराखंड

बंटी-बबली चढ़े हरिद्वार पुलिस के हत्थे, चार दर्जन से अधिक मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज

एसएसपी हरिद्वार के दिशा निर्देशन में हरिद्वार पुलिस आत्मविश्वास से लबरेज। हरिद्वार पुलिस की एक और धमाकेदार सफलत। एसएसपी के दिशा-निर्देशन में हरिद्वार पुलिस ने एक और शानदार सफलता अर्जित करी जब आलिशान लोकेशन पर सुंदर घर बनाने का सपना दिखाकर भोली भाली जनता से कई लाख रुपए एडवांस लेने लेकिन रजिस्ट्री नहीं करने वाले “कुलदीप-अंजलि” बंटी और बबली को हरिद्वार पुलिस ने धर दबोचा।

ये 👥बंटी और बबली👫 इतने शातिर हैं कि इनके खिलाफ चार दर्जन से अधिक मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज हैं और लगभग 650 बीघे से ज्यादा जमीन पर इन्होंने अपनी धोखाधड़ी का मायाजाल बिछाया हुआ था। शुरुआती जांच में लोगों के गाढ़े खून पसीने की कमाई को ठगने की अनुमानित रकम लगभग 60 करोड़ रुपये निकल कर आई है। मास्टरमाइंड कुलदीप के हर बुरे कर्म की सच्ची साथी महिला अभियुक्ता अंजलि के खिलाफ भी 09 मुकदमें दर्ज हैं। गैंगलीडर कुलदीप नन्दराजोग दिल्ली यूनिवर्सिटी का “बीए ऑनर्स” है लेकिन अपने ज्ञान को गलत जगह पर इस्तेमाल कर रहा था। कुलदीप वर्ष 2018 में धोखाधड़ी के मामले में पहले भी जा चुका है जेल, 10 महीने बाद हाईकोर्ट से मिली थी बेल।

यह भी पढ़ें -  लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा की कांग्रेस में सेंधमारी, ओबीसी समुदाय को साधने की ये है रणनीति

ऑक्टागन बिल्डर का मालिक कुलदीप नन्दराजोग ने हरिद्वार में दो आलिशान पॉश कालोनी “संतूर सिटी व हर हर गंगे” बसाने का उत्तर भारत के कई राज्यों की जनता को दिखाया था सुनहरा सपना, अब जा रहा जेल। गिरफ्त में आया गैंग लीडर कुलदीप नन्दराजोग ने ऑक्टागन बिल्डर्स प्रा0लि0 के नाम से प्लॉटिंग कर जमीन बेचने की कम्पनी बनाई है। उक्त कम्पनी की आड़ में जमीन बेचने के नाम पर धोखाधडी कर लोगों को ठगने का एक सुसंगठित गैग बनाया। इस गैंग द्वारा प्रथम दृष्टया कई व्यक्तियों से करीब 60 करोड रुपये की धोखाधडी किया जाना ज्ञात हुआ है। उक्त गैंग में गैंग लीडर कुलदीप के अतिरिक्त सतपाल नन्दराजोग, अंजली त्यागी, संजीव गुप्ता, सौरभ गाँधी सक्रिय सदस्य हैं। पूरे गैंग की कुंडली खंगाली जा रही है और एक-एक कर सभी हरिद्वार पुलिस की गिरफ्त में आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें -  सरकारी नौकरियों में इनको चार फीसदी आरक्षण मिलेगा, विधेयक को कैबिनेट से मिली मंजूरी

गैंग के सदस्य एक निश्चित स्थान पर कॉलोनी बनाने व उसमे वर्ल्ड क्लॉस सुविधा का सपना दिखाकर भोले भाले लोगों से उनकी जमा पूंजी कई लाख रुपए एडवांस व कॉलोनी के विकास के नाम पर पैसा लेकर उन्हे बार-बार रजिस्ट्री का समय देकर, बाद में वही प्लॉट अन्य व्यक्ति को ज्यादा दामों में बेचकर मुनाफा कमाते थे जिससे हरिद्वार में अपने सुनहरे फ्लैट का सपना संजो रहे उत्तर भारत के कई राज्यों के सैकडों लोगों को गहरा आर्थिक नुकसान पहुँचा। हरिद्वार पुलिस की गिरफ्त में आकर भले ही मीडिया के कैमरों की नजरों से अभियुक्ता अंजलि स्वयं को बचा रही है लेकिन अदालत में लोगों की खून पसीने की कमाई व तथ्यों के अकाट्य सबूतों से पीछा छुड़ाना भारी पड़ेगा।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: सफाई कर्मचारी दस हजार रुपयों रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, नामांतरण प्रमाण पत्र की एवज में ले रहा था रिश्वत

पकड़े गए अभियुक्त-

1- कुलदीप नन्दराजोग पुत्र सतपाल नि0 निदेशक ऑक्टागन बिल्डर्स एण्ड प्रमोटर्स प्रा0लि0 H- 218 हाल पता D-3 नोएडा गौतमबुद्धनगर नोएडा उ0प्र0

2- अंजली त्यागी पुत्री चमन सिंह त्यागी नि0 90 जी अनुकम्पा अपार्टमेन्ट अभय खण्ड इन्द्रापुरम गाजियाबाद उ0प्र0

Continue Reading

More in उत्तराखंड

Like Our Facebook Page

Latest News

Author

Author: Shakshi Negi
Website: www.gairsainlive.com
Email: [email protected]
Phone: +91 9720310305